Tuesday, 16 June 2020

मनुवादी और बहुजनो में क्या अंतर हैं ? थोडा सा विचार जरुर करें

-------------------------------------------







वो धन के लिए लड़ता है,
हमें धर्म के लिए लड़वाता हैं ।
.
वो संसद की तरफ दौडता है,
हम तीर्थ स्थल की तरफ दौडते हैं।
.
वो अपने बच्चो को कॉलेज भेजता है,
हम मंदिर व कांवड़ लेने भेजते हैं ।
.
वो कथा भागवत करता है ,
हम कथा भागवत करवाते हैं ।
.
वो हम से दान दक्षिणा लेता है ,
हम उसको दान दक्षिणा देते हैं ।
.
वो हमको झूठा आशीर्वाद देता है ,
हम उसके पैरों में पड़़ जाते हैं ।
.
वो हमको गुलाम बनाता है ,
हम उसके गुलाम बन जाते हैं ।
.
वो मुसलमानों के प्रति भडकाता है ,
हम सब भडक जाते हैं ।
.
वो हमको बर्बाद करना चाहता है ,
हम उसको आबाद करना चाहते हैं ।
.
वो हमसे हमेशा ईर्ष्या रखता है ,
हम उससे हमेशा अनुराग रखते हैं ।
.
वो अपने घर में कभी सत्यनारायण की पूजा नहीं करता है ,
पर हम से हमेशा करवाता है ।
.
वो हमेशा सब की कुंडली बनाता है ,
पर अपनी कुंडली किसी से नहीं बनवाता ।
.
उसकी नजर पैसों पर रहती है ,
हमारी नजर कर्मकांडों पर रहती है।
.
उसका अधिकार सभी मठ मंदिरों पर है,
हमारा अधिकार किसी मठ मंदिर पर नहीं है।
.
वो हर समय धन दौलत में खेलता है ,
हम अपनी रोज़ी रोटी के लिए दिन रात एक करते हैं ।
.
वो बगैर पसीने की कमाई करता है ,
हम पसीना बहा कर कमाई करते हैं ।
.
उसका 10 साल का बच्चा अपना इतिहास जानता है,
हमारा 60 साल का बुड्ढा भी अपना इतिहास नहीं जानता है।
.
वो हमसे अपने पूर्वजों की पूजा करवाता है ,
हमारे महापुरुषों को हमसे ही गाली दिलवाता है ।
.
वो कभी मंदिर में दान नहीं करता ,
हमेशा हम से ही दान करवाकर उस तिजोरी साफ कर देता है ।
.
वो मंदिरो के चढावे से तिजौरियां भरता है ,
हम अपनी गाढ़ी कमाई मंदिरो में चढा कर गरीब बन जाते हैं ।
.
वो अपनी चतुर बुद्धि से भारत पर राज कर रहा है ,
हम अपनी मंद बुद्धि के कारण उसकी गुलामी करते हैं ।
.
जीवन में दुख भी वही बताता है उपाय भी वही बताता है ,
हम उसके नचाये नाचते हैं ।
.
भारत में उसकी संख्या 3% है लेकिन 68% जगहों पर विराजमान है ।
हमारी संख्या 85% है लेकिन हम 15% जगहों पर भी नहीं हैं।
.
वह अपने महापुरुषों का सम्मान करता है व हमसे करवाता है ,
हमसे हमारे ही महापुरुषों का अपमान करवाता है
.
जागो और जगाओ।
व्यवस्था परिवर्तन कराओ।

0 comments:

Post a comment

Blog Archive

Search This Blog

Follow by Email

Popular Posts

Recent Posts